TaazaTales WhatsApp Channel Join Now
TaazaTales Telegram Channel Join Now

Elon Musk ने कर दिखाया चमत्कार! इंसान ने बिना छूए चलाया माउस, अब यह हो सकता है अगला कदम

Elon Musk की Neuralink ने एक शानदार कारनामा किया है। हाल ही में कंपनी ने एक व्यक्ति के दिमाग में चिप को इंप्लांट किया और अब उस व्यक्ति ने सिर्फ सोचकर एक कंप्यूटर माउस को कंट्रोल किया है। इसके साथ ही Elon Musk ने कंपनी के अगले कदम की भी घोषणा की है। आइए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

Elon Musk ने मानव इतिहास का सबसे बड़ा कारनामा किया है। हाल ही Neuralink ने एक इंसानी दिमाग में चिप को इंप्लांट किया था, जिसकी जानकारी खुद Elon Musk ने दी थी। अब लेटेस्ट जानकारी में पता चला है कि चिप इंप्लांट किए गए व्यक्ति ने बिना छुए कंप्यूटर माउस को कंट्रोल करके दिखाया है। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट्स से प्राप्त हुई है।

वास्तविकता में, रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर हुए स्पेस इवेंट के दौरान Elon Musk ने इस जानकारी को साझा किया। उन्होंने बताया कि प्रोग्राम अच्छा रहा है और मरीज पूरी तरह से रिकवर हो गया है। इसमें उसे कोई नुकसान नहीं हुआ है। मरीज ने सिर्फ सोचने से ही माउस को कंट्रोल करके दिखाया, जिसके बाद कर्सर स्क्रीन पर एक साइड से दूसरी तरफ मूव हुआ।

Elon Musk, Neuralink का अगला कदम क्या हो सकता है?

Neuralink, Elon Musk की कंपनी है और उन्होंने खुलासा किया है कि उनकी कंपनी का एक बड़ा लक्ष्य है, जिसे हासिल करना है। Neuralink का अगला कदम और भी जटिल समस्याओं से इंटरैक्ट करना है। इसमें उसे कंप्यूटर माउस बटन को भी कंट्रोल करना है। इसमें उसे माउस को हाथ भी नहीं लगाना होगा, बल्कि यह सिर्फ ब्रेन में लगी चिप के सिग्नल से होगा।

Read Also  Google LUMIERE :- गूगल का यह नया AI हमारा काम बिल्कुल आसान करने वाला है

इस साल इंसान में चिप को इंप्लांट किया गया है। इससे पहले जनवरी में Elon Musk ने घोषणा की थी कि Neuralink ने चिप को पहली बार किसी इंसान में इंप्लांट किया है। कंपनी ने इसको लेकर बीते साल सितंबर में approval प्राप्त किया था, उसके बाद अपना काम शुरू किया था।

रोबोट ने दिमाग में इंप्लांट करने के लिए Neuralink चिप का उपयोग किया है, जिससे एक रोबोट सर्जरी के माध्यम से ब्रेन पर एक ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफेस इंप्लांट किया जाता है। इसकी प्रारंभिक चरण में कंपनी का लक्ष्य है कि इंसान सिर्फ अपनी सोच से ही कंप्यूटर कर्सर या कीबोर्ड को कंट्रोल कर सके। Elon Musk ने साल 2016 में Neuralink की स्थापना की थी, जो एक न्यूरो टेक्नोलॉजी कंपनी है। इसका उद्देश्य है एक सीमलेस ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफेस तैयार करना, जिसे ‘द लिंक’ कहा जाता है। यह विशेष रूप से उन लोगों के लिए उपयुक्त हो सकता है जो अपने हाथों से किसी चीज़ को छू नहीं सकते और उन्हें उठा नहीं सकते हैं।

Unlock a world of Benefits! From insightful newsletters to real-time News, breaking news and a personalized newsfeed – it’s all here, just a click away! click here!