TaazaTales WhatsApp Channel Join Now
TaazaTales Telegram Channel Join Now

Jio Brain AI: जिओ ने लॉन्च की AI सेवा, जो काम करेगी मशीन लर्निंग एल्गोरिदम पर।

Jio Brain: हाल ही में खबर निकलकर सामने आई थी कि जिओ भी एक AI प्लेटफ़ॉर्म पर काम कर रही है। आखिरकार, जिओ ने अपनी इस AI service को लॉन्च कर दिया है। जिओ की AI service, ChatGPT और दूसरी AI Services से अलग हैं। जिओ की AI service मशीन लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म पर बेस्ड है, जिससे बड़े बड़े एंटरप्राइजेस को फायदा होगा, ना कि किसी व्यक्ति को। यह सेवा यूजर्स को कई सारे फीचर्स प्रदान करती है। आइए जानते हैं Jio Brain की डिटेल्स।

Jio Brain
जिओ के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट आयुष भटनागर ने ‘LinkedIn’ पर Jio Brain प्लेटफ़ॉर्म के लॉन्च के बारे में जानकारी साझा की

क्या है Jio Brain ?

रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी जिओ ने, एक ए.आई. प्लेटफॉर्म Jio Brain’ बनाया है, जो टेलीकॉम ऑपरेटर के नेटवर्क, एंटरप्राइज नेटवर्क में मशीन लर्निंग (ML) जैसी क्षमताओं को समेकित करता है। कंपनी का कहना है कि ‘Jio Brain’ का इस्तेमाल बड़ी-बड़ी एंटरप्राइजेस में बिना किसी बड़े नेटवर्क या आईटी परिवर्तन के किया जा सकता है।

यह प्लेटफ़ॉर्म 5जी इंटीग्रेटेड के साथ आता है जिसका उद्देश्य टेलीकॉम नेटवर्क, एंटरप्राइज नेटवर्क, और आईटी वातावरण के नियमित operations में मशीन लर्निंग और AI टूल्स का उपयोग करके आउटपुट को बढ़ाना है। सीधी भाषा में कहें तो यह प्लेटफ़ॉर्म कंपनियों को अपने रोजमर्रा के operations में मशीन लर्निंग और AI की शक्ति जोड़ने में मदद करेगा, जिससे कंपनियों की आउटपुट बढ़ जाएगी।

Read Also  Redmi Note 13 Pro 5G: 4 जनवरी को लॉन्च होगा, जिन्हें 5,100mAh की बैटरी के साथ मिलेंगे ये दमदार फीचर्स

2 साल की research के बाद लॉन्च हुआ ‘Jio Brain’

जिओ के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट आयुष भटनागर ने ‘LinkedIn’ पर इस प्लेटफ़ॉर्म के लॉन्च के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कंपनी ने इस प्लेटफ़ॉर्म को लॉन्च करने से पहले दो साल की लंबी रिसर्च की है। इस ऐलान के साथ, भटनागर जी ने एक दस्तावेज़ भी एटैच किया है जिसमें इस प्लेटफ़ॉर्म के बारे में विस्तृत जानकारी साझा की गई है। इस प्लेटफ़ॉर्म को तैयार करने के लिए सैकड़ों इंजीनियर लगे जिन्होंने पहले 5जी इंटीग्रेटेड मशीन लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म के तौर पर इसे टेस्ट करने के बाद लॉन्च किया।

Jio Brain कैसे काम करेगा?

Jio Brain में इमेज़, वीडियो, टेक्स्ट, और डॉक्यूमेंट्स के लिए एडवांस्ड आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग फीचर्स मौजूद हैं जो नेटवर्क के ऑप्टिमाइजेशन में मदद करेंगे। साथ ही, इन-बिल्ट एआई एल्गोरिदम जैसी सुविधाएं भी हैं। कंपनी का कहना है कि जियो ब्रेन 5जी और 6जी नेटवर्क और प्रोडक्ट्स के लिए एक अच्छा प्लेटफ़ॉर्म साबित होगा जो उनके विकास में मदद करेगा। जियो का कहना है कि इस प्लेटफ़ॉर्म से इंडस्ट्री में बदलाव और नेटवर्क के ऑप्टिमाइजेशन में जियो ब्रेन मदद करेगा, आगे चलकर 6जी नेटवर्क के विकास में कारगर साबित होगा।

ऐसे ही और लेख पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।