TaazaTales WhatsApp Channel Join Now
TaazaTales Telegram Channel Join Now

Chameleon Malware – अगर आप करते हैं इंटरनेट इस्तेमाल, तो हो जाइए सावधान।

Chameleon Malware

Chameleon Malware

आजकल के युग को आईटी का युग कहा जाता है क्योंकि आजकल सभी Smartphone, Laptop और Computer का इस्तेमाल किसी न किसी रूप में करते हैं। ऐसे में Malware का खतरा बना रहता है। जब हम इन डिवाइसेस पर इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं, तो Malware आसानी से हमारे डिवाइस में एंट्री कर सकते हैं और हमें काफी नुकसान पहुंचा सकते हैं।

हाल ही में एक नया Malware सामने आया है जिसे नाम दिया गया है ‘Chameleon Malware’. यह Malware क्या है और इससे बचने के लिए कैसे सावधानी बरतनी चाहिए, यह सभी जानकारी हम आपको देंगे। बस, आप हमारे साथ बने रहिए।

क्या होते हैं Malware:-

Malware का पूरा नाम “Malicious Software” होता है जोकि एक प्रकार का सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम है जो आपकी अनुमति के बिना आपके कंप्यूटर या स्मार्टफोन में प्रवेश करता है, जिसका मुख्य उद्देश्य आपके डेटा को चोरी करना या नुकसान पहुंचाना होता है।

Malware कई प्रकार के हो सकते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

  1. Worm: यह हैकर के द्वारा आपके डेटा को नुकसान पहुंचाने के लिए बनाए जाते हैं। Worm एक बार आपके डिवाइस में प्रवेश कर जाए तो उसके बाद वे अपने आप को बढ़ाते जाते हैं। और यह नेटवर्क के माध्यम से फैलते हैं।
  2. Trojen Horse: यह मैलवेयर होता है जो दिखने में एहसास कराएगा कि यह आपके काम का सॉफ़्टवेयर है।, लेकिन उसका वास्तविक उद्देश्य आपके डेटा को हानि पहुंचाना होता है।
  3. Spyware: यह उपयोगकर्ता की गतिविधियों को ट्रैक करता है और इसके बाद ट्रैक की गई गतिविधियों को हैकर तक पहुंचाता है।
  4. Ransomware: यह एक प्रकार का मैलवेयर है जो पहले आपके सिस्टम में घुस कर फिर आपके डेटा या सिस्टम पर नियंत्रण करता है। और फिर आपसे Ransom मांगता है।
Read Also  Vivo Y28 5G :- वीवो ने सबसे सस्ता 5G स्मार्टफोन किया लॉन्च, मिल रहा है शानदार ऑफर के साथ

ये केवल कुछ Malware के प्रमुख प्रकार हैं, और इसके अलावा भी कई और प्रकार हो सकते हैं जो विभिन्न तरीकों से कंप्यूटर और नेटवर्क प्रणालियों को प्रभावित करते हैं।

Chameleon Malware-Banking Trojen:-

Chameleon Malware को पहली बार अप्रैल 2019 में खोजा गया था। उस समय इस मैलवेयर ने ऑस्ट्रेलिया और पोलैंड के उपयोगकर्ताओं को अपना निशाना बनाया था। इस मैलवेयर ने ऑस्ट्रेलिया की सरकारी एजेंसियों, बैंकों, क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज को Target किया था।

Chameleon Malware

एक बार फिर से साइबर सुरक्षा अनुसंधानकर्ताओं ने एंड्रॉइड बैंकिंग मैलवेयर के अपडेटेड संस्करण की खोज की है जो पहले से भी ज्यादा खतरनाक है। रिपोर्ट्स के अनुसार, यह मैलवेयर एंड्रॉइड एप्लिकेशन के माध्यम से फैल रहा है। इस मैलवेयर ने डेटा चुराने के लिए कीलॉगिंग, ओवरले इंजेक्शन, कुकीज़ चोरी, आदि तकनीक का उपयोग कर रहा है। ThreatFabric की एक रिपोर्ट के अनुसार, रिसर्चर्स ने यह पाया है कि यह मैलवेयर Zombinder सेवाओं की सहायता से फैल रहा है।

कैसे काम करता है Chameleon Malware? :-

Chameleon Malware इतना खतरनाक है कि यह फिंगरप्रिंट और फेस अनलॉक जैसे बायोमेट्रिक एक्सेस को बंद कर सकता है। इस मैलवेयर के द्वारा किसी भी पिन या पासवर्ड को कैप्चर किया जा सकता है, जिससे हैकर्स अपनी मर्जी के अनुसार डिवाइस को अनलॉक करने में सक्षम हो सकते हैं। यह मैलवेयर Android 13 और उसके बाद के वर्शन पर चलने वाले डिवाइसों पर एक HTML पेज डिस्प्ले करता है। इसका उपयोग ऑन-स्क्रीन कंटेंट चोरी, अतिरिक्त परमिशन प्राप्त करने और नेविगेशन जेस्चर करने के लिए किया जा सकता है।

Chameleon Malware

कैसे बचा जा सकता है मैलवेयर से Chameleon Malware? :-

मैलवेयर से बचने के लिए आप निम्नलिखित उपाय अपना सकते हैं:-

  1. Antivirus का इस्तेमाल करें
  2. Operating System को समय अपडेट्स पर करें
  3. सावधानी से ईमेल और लिंक्स को खोले
  4. ब्राउज़िंग करते समय सावधानियाँ बरतें
  5. फ़ायरवॉल का इस्तेमाल करें
  6. अच्छे पासवर्ड का चयन करें
  7. डेटा का बैकअप करें
  8. जागरूकता बनाए रखें