TaazaTales WhatsApp Channel Join Now
TaazaTales Telegram Channel Join Now

Semiconductor Chip Manufacturing in India: Tata Electronics जल्द ही भारत में करेगी सेमीकंडक्टर चिप का निर्माण, केंद्र सरकार ने दी मंजूरी।

Semiconductor Chip Manufacturing in India: आज केंद्र सरकार की कैबिनेट मीटिंग में सेमीकंडक्टर निर्माण से जुड़े परियोजन को केंद्र सरकार ने दी मंजूरी। 1.26 लाख करोड़ रुपये के निवेश से भारत में सेमीकंडक्टर निर्माण की चेन होगी स्थापित। तीन सेमीकंडक्टर प्लांट भारत में होंगे स्थापित।

Semiconductor Chip Manufacturing in India

Semiconductor Chip Manufacturing in India

केंद्र सरकार ने भारत में सेमीकंडक्टर चिप के निर्माण को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है। जल्द ही भारत में सेमीकंडक्टर का निर्माण होने जा रहा है शुरू। आज सरकार ने कैबिनेट मीटिंग में सेमीकंडक्टर के निर्माण के लिए तीन प्लांट लगाने को दी मंजूरी। केंद्र सरकार 1.26 लाख करोड़ रुपये का निवेश करके भारत में तीन नए सेमीकंडक्टर प्लांट की स्थापना करने जा रही है। इनका निर्माण अगले 100 दिनों में शुरू होने की संभावना है।

Tata Electronics भारत में करेगी सेमीकंडक्टर चिप का निर्माण

आपको बता दें कि पहला सेमीकंडक्टर प्लांट टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स द्वारा जल्दी ही शुरू किया जाएगा। टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स ताइवान में स्थित पॉवरचिप सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग कॉर्प के साथ साझेदारी में गुजरात के धोलेरा में अपना पहला प्लांट स्थापित करेगा जिसकी उत्पादन क्षमता मासिक 50,000 वेफर्स प्रति महीना होगी। एक वेफर की बात करें तो इसमें 5,000 चिप होते हैं, इस हिसाब से कंपनी प्रतिवर्ष लगभग 3 बिलियन चिप का निर्माण कर पाएगी।

Read Also  Samsung User Alert :- अगर आप भी सैमसंग का फोन इस्तेमाल करते हैं तो आप भी हैकर्स के निशाने पर हो सकते हैं

इसके अलावा दो और सेमीकंडक्टर प्लांट होंगे स्थापित

इसके अलावा, टाटा सेमीकंडक्टर असेंबली एंड टेस्ट प्राइवेट लिमिटेड असम के मोरीगांव में 27,000 करोड़ रुपये की लागत से सेमीकंडक्टर चिप निर्माण प्लांट स्थापित करेगा। टाटा सेमीकंडक्टर असेंबली प्लांट प्रतिदिन 48 मिलियन चिप्स का उत्पादन करेगा।

तीसरा सेमीकंडक्टर चिप प्लांट मुंबई में स्थित सीजी पावर, जापान की रेनेसास इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्प, और थाइलैंड की स्टार्स माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक्स के साथ साझेदारी के द्वारा गुजरात के साणंद में स्थापित किया जाएगा। यह प्लांट प्रतिदिन 15 मिलियन चिप्स का उत्पादन करेगा।