TaazaTales WhatsApp Channel Join Now
TaazaTales Telegram Channel Join Now

HBSE Board Update: शिक्षा बोर्ड हरियाणा ने दसवीं कक्षा के मूल्यांकन फार्मूले में किया बदलाव, आइए जानें क्या है नया फार्मूला।

HBSE Board Update: शिक्षा बोर्ड हरियाणा ने दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के मूल्यांकन फार्मूले में किया बदलाव, अब पास होने के लिए थ्योरी और इंटरनल असेसमेंट दोनों में मिलाकर लेने होंगे 33 प्रतिशत अंक। पहले लेने होते थे दोनों में अलग-अलग 33 प्रतिशत अंक।

HBSE Board Update

HBSE Board Update

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. वी.पी. यादव ने जानकारी दी है कि इस बार बोर्ड ने 10वीं कक्षा के मूल्यांकन फार्मूले में बदलाव किया है। चालू शैक्षणिक सत्र में 10वीं कक्षा की परीक्षाओं का मूल्यांकन हाल ही में सीबीएसई द्वारा बदले गए फार्मूले के अनुसार किया जाएगा। क्या है नया मूल्यांकन फार्मूला जिससे 10वीं कक्षा में बढ़ रहे बच्चों की होने वाली है बल्ले बल्ले। आइए जानें।

क्या है दसवीं कक्षा के मूल्यांकन का नया मूल्यांकन फार्मूला?

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने 10वीं कक्षा के मूल्यांकन फ़ॉर्मूले में बदलाव कर दिया है। इस बार 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों को पास होने के लिए सीबीएसई के तर्ज पर थ्योरी और इंटरनल असेसमेंट दोनों में कुल मिलाकर 33% अंक हासिल करने होंगे। बोर्ड अध्यक्ष का कहना है कि इस नए फार्मूले से बोर्ड का रिजल्ट भी बेहतर होगा। इसके साथ साथ बोर्ड के इस नए फार्मूले से विद्यार्थियों का 10वीं कक्षा पास करना भी आसान हो जाएगा।

Read Also  Delhi Vocational Trainers Bharti: दिल्ली के सरकारी स्कूलों में निकली व्यावासायिक प्रशिक्षक की भर्ती, इस लिंक से करें आवेदन।

अब तक क्या था दसवीं कक्षा के मूल्यांकन का फ़ॉर्मूला?

आपको बता दे कि अब तक हरियाणा बोर्ड में जो पास फॉर्मूला था, उसके अनुसार विद्यार्थियों को थ्योरी के 80 अंकों और इंटरनल असेसमेंट के 20 अंकों में से दोनों में अलग-अलग 33 प्रतिशत अंक लेने होते थे। लेकिन इस बार 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों को पास होने के लिए सीबीएसई के तर्ज पर थ्योरी और इंटरनल असेसमेंट दोनों में कुल मिलाकर 33% अंक हासिल करने होंगे।

दसवीं कक्षा में पढ़ रहे बच्चों को होगा इसका फ़ायदा

बोर्ड अध्यक्ष का कहना है कि इस नए फार्मूले से 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों का पास प्रतिशत बढ़ेगा जिससे बोर्ड का रिजल्ट भी बेहतर होगा। इसका सीधा फ़ायदा 10वीं कक्षा में पढ़ रहे बच्चों को होगा। अब 10वीं कक्षा में पढ़ रहे बच्चों का पास होना आसान हो जाएगा, क्योंकि नए फार्मूले के अनुसार 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों को पास होने के लिए थ्योरी और इंटरनल असेसमेंट दोनों में कुल मिलाकर 33% अंक हासिल करने होंगे।

10वीं कक्षा में विद्यार्थियों को आसानी से इंटरनल असेसमेंट में 15 से 20 अंक मिल जाते हैं। इंटरनल असेसमेंट में 15 से 20 अंक लेने के बाद अब नए फार्मूले के अनुसार 10वीं कक्षा में पास होने के लिए थ्योरी में 80 में से विद्यार्थियों को 15 से 20 ही अंक लेने होंगे। बोर्ड के इस नए फार्मूले के अनुसार 10वीं कक्षा के हजारों विद्यार्थियों की बल्ले-बल्ले होने वाली है।

Read Also  CBSE Board Exam लीक मामला। अगर आप भी देने जा रहे हों सीबीएसई बोर्ड परीक्षा तो हो जाइए सावधान।

इस बार परीक्षा में फ्लाइंग भी नहीं होगी

बोर्ड अध्यक्ष ने बताया है कि इस बार होने वाली परीक्षाओं में सचिव की स्पेशल फ्लाइंग के अलावा जिला स्तर पर गठित होने वाली फ्लाइंग नहीं होगी। इस बार की परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए परीक्षा केंद्र पर दो ऑब्जर्वर रहेंगे। इनमें से एक किसी सरकारी स्कूल का प्रिंसिपल या लेक्चरर होगा और दूसरा प्राइवेट स्कूल का प्रिंसिपल या अन्य अध्यापक होगा। दोनों ऑब्जर्वर परीक्षा केंद्र पर ही रहेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि संबंधित परीक्षा केंद्र पर नकल न हो।

अप्रैल में ही जारी होगा दसवीं का रिजल्ट

बोर्ड के अध्यक्ष ने जानकारी दी है कि इस बार बोर्ड की कोशिश रहेगी कि रिजल्ट अप्रैल में ही निकाल दिया जाए। इसके लिए बोर्ड ने पूरी तैयारियाँ कर ली हैं। इस बार बोर्ड परीक्षाओं में जेबीटी की ड्यूटी लगाई गई है और पीजीटी को फ्री रखा गया है ताकि पीजीटी से उत्तरपुस्तिकायों की डिजिटल मार्किंग करवाई जा सके और मूल्यांकन का कार्य जल्दी से पूरा किया जा सके। बोर्ड अध्यक्ष का यह कहना है कि इस बार परीक्षा शुरू होने के तीन-चार दिन बाद ही मूल्यांकन कार्य शुरू करवाया जाएगा ताकि बोर्ड अप्रैल में रिजल्ट जारी कर सके।

शिक्षा से संबंधित और जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।